Sunday Musings

Muse 1

Choices or not ?

Would you rather
use your lifesavings to repair your beloved but broken old home
or
build a new one?
pick up the shattered pieces of your favorite frame off the floor and in process cut your fingers
or
buy a new one and walk past the old pieces, even if it hurts your feet?

Continue reading “Sunday Musings”

Yudh..

एक युद्घ है भीतर ही भीतर ..
ख़्वाहिशें भी खुद से और बगावत भी खुद से
एक तरफ अनमोल सपने और
दूसरी तरफ साहस का तराज़ू
एक पैर जमाने के साथ और
दूसरा कही मन के दलदल मे फसा हुआ..
आईने के उस पार मेरा अक्स या इस तरफ खड़ी मैं ?